Saturday, July 2, 2016

समस्या का हल पीपल


गीता के अनुसार भगवान श्री कृष्णा ने कहा है कि  मै ( श्री कृष्ण ) वृक्षों में पीपल हूँ और जो भी पुरे श्रद्धा के साथ इस वृक्ष की सेवा करता है उसे लाभ की अनुभूति अवश्य होगी ”. इसिलिया ग्रंथो में वृक्षों में पीपल के पेड़ को देवो का देव भी कहा गया है. पीपल की सेवा के लिए आप प्रत्येक शनिवार को पीपल के वृक्ष पर दूध, जल, शक्कर, शहद, काले तिल, गंगा जल और गुड को जल में मिला का चढ़ाये, इसके साथ आप एक आटे के दीपक में सरसों का तेल डाल कर उसे जलाये, दीपक में आप एक लोहे की कील व 11 साबुत उड़द की दाल के दाने भी डाल दे और धुप जला कर दिये के साथ पीपल के पेड़ को अर्पित करे. इसके बाद आप पीपल के वृक्ष की 11 बार परिकर्मा करते हुए, अपने बाये हाथ से पीपल के वृक्ष की जड़ो को स्पर्श करे और अपने माथे पर लगाये. इन उपायों को करने से भगवान शनि देव की कृपा आप पर बनी रहेगी और आप दुखो से दूर रह पाओगे. 


ये उपाय आपको निमंलिखित समस्याओ से दूर रखेंगे.

·         शत्रुओ से परेशानी : अगर आपकी किसी के साथ शत्रुता है और आपका शत्रु आपको परेशान कर रहा है तो आप ऊपर दिए हुए उपायों को करे और साथ ही आप पीपल के वृक्ष के नीचे बैठ कर हनुमान चालीसा का भी पाठ जरुर करे. इस तरह से आपको आपके शत्रुओ से जुडी सभी परेशानियों से मुक्ति मिलेगी साथ ही आपके शत्रुओ का नाश होगा.


·         कन्या का दुःख में होना : अगर किसी कन्या की जन्म पत्रिका में प्रबल वैधव्य योग है जिसकी वजह से उसको अपने जीवन में दुखो का सामना करना पड़ रहा है तो उस कन्या को ऊपर दिए गये उपायों को पुरे मन से कम से कम 1 साल तक के लिए जरुर करना चाहिए, तभी उसके दुखो का निवारण होगा और उसके जीवन में भी सुख होंगे.


·         ब्रहस्पति देव का अशुभ स्थिति में होना : अगर आपकी राशी में ब्रहस्पति देव जी मजबूत स्थिति में नही है तो आप ब्रहस्पति देव की अशुभता को दूर करने के लिए केले के और पीपल के वृक्षों की नियमित रूप से सेवा करे. ऐसा करने से ब्रहस्पति देव की स्थिति मजबूत होगी और आपको भी अपने जीवन में इसका लाभ मिलेगा.


·         विशेष कार्य को सिद्ध करने के लिए : अगर आपका कोई विशेष कार्य संपन्न नही हो पा रहा है तो आप उसे पूरा करने के लिए शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष के पास जाये और पीपल के वृक्ष से अपने कार्य को पूरा करने के लिए निवदेन करे, उसके बाद आप ऊपर दिए गये उपाय को करे, साथ ही आप पीपल के पेड़ के सामने एक बड़ी सी लोहे की कील को गाड दे, आपका कार्य जरुर पूरा होगा और जब आपका कार्य पूरा हो जाये तो आप उस कील को वापस निकल दे.


·         शरीर के दर्द को दूर करने के लिए : अगर आप अपने हाथो – पैरो के दर्द और कमर के दर्द से परेशान है साथ ही आपके शरीर में भी दर्द होता है और आप थकान महसूस करते है तो आप एक काले कपडे में पीपल के वृक्ष की जड़ या फिर उसकी लकड़ी को बंध ले और उसे आप अपने बिस्तर के सिरहाने रख ले. लेकिन इसके साथ साथ आप ऊपर दिए के उपायों के अनुसार पीपल की सेवा करना न भूले. कुछ समय के पश्चात आपको महसूस होगा कि आपके शरीर का दर्द खत्म हो रहा है और आप दर्द मुख हो रहे है.
 

·         लगातार हो रहे नुकसान को रोकने के लिए : यदि आपको आपके हर काम में नुकसान का सामना करना पड़ रहा है और आपका धन भी धीरे धीरे कम होता जा रहा है तो आप निराश न हो बल्कि आप पीपल के वृक्ष का एक पत्ता ले और उस पर ॐ लिख कर अपनी तिजोरी या उस स्थान पर रख ले जहाँ आप अपना धन रखते है. ऐसा आप कम से कम 8 शनिवार जरुर करे, कुछ समय बात आपको आभास होगा कि आपका नुकसान होना बंद हो गया है और आपका धन भी बढ़ने लगा है.


·         जीवन की समस्याओ को दूर करने के लिए : यदि आपके सभी कार्यो में बाधाये उत्तपन होती है जिसकी वजह से आपका कोई भी कार्य सफल नही हो रहा है और आपको हर जगह असफलता ही हाथ लग रही है तो आप शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के पास जाये और पीपल के वृक्ष के 8 पत्तो को एक साथ एक काले धागे से, एक गाँठ में बाँध ले. फिर जब आप अगले शनिवार को वृक्ष के पास जाये तो आप एक गांठ और लगा दे पर आप पहली वाली गांठ को उतार कर बहते हुए पानी में डाल दे, ऐसा करने से आपके जीवन की सारी समस्याए भी एक एक करके बहते पानी में गांठो की तरह ही बह जाएगी.


·         शिवलिंग की पूजा : शिवलिंग शिव जी की प्रतिमा मानी जाती है तो उनकी पूजा के लिए हर सोमवार के दिन पीपल के वृक्ष के नीचे शिवलिंग को रख दे. उसके बाद आप ॐ नमः शिवाय का नियमित रूप से जाप करे और शिवलिंग का जलाभिषेक करे. ऐसा करने से आपके और आपके परिवार के जीवन से सभी दुखो का नाश होगा और आपके परिवार में सुख समृद्धि का भी वास होगा.

 
पीपल हर तरह की परेशानी और कष्ट को दूर करने के लिए

1 comment: