Wednesday, April 16, 2014

धन जोड़ने के उपाय

1.जिस घर में नियमितरूप से अथवाप्रत्येक शुक्रवार को श्रीसूक्त अथवाश्री लक्ष्मी सूक्त का पाठहोताहै वहां माँ लक्ष्मी का स्थाई वास होता है| 2.पर्त्येक सप्ताह घर में फर्श पर पोचा लगते समय थोडा सा समुंदरी नमक मिला लिया करें ऐसा करने से घर में होने वाले झगरेकमहोतेहैं इसकेअतिरिक्तयहभीलाभमिलताहै आपकोनहींमालूमकी आपकेघरमें आनेवालाअतिथिn कहाँसे आयाहै,तथाउसकेमनमें आपकेप्रति क्या विचारहै,नमकमिलेपानीसे पोचालगानेसे सारीनकारात्मक उर्जा समाप्त हो जाती है|
3.प्रात: उठ करगृह लक्ष्मी यदि मुख्यद्वार पर एक गिलास अथवा लोटा जल डाले तो माँ लक्ष्मी के आने कामार्ग प्रशस्त होता है| यदि आपचाहतेंहैंकि घरमें सुख शांतिबनीरहे तथाआपआर्थिक रूपसे समर्थ रहें तोप्रत्येक अमावस्याकोअपने घर की पूर्ण सफाई करवा दें|जितना भी फ़ालतू सामान इकठा हुआ हो उसे क्बारी को बेच दें अथवा बाहर फेंक दें ,सफाई के बाद पांच अगरबती घर के मंदिर में लगायें|
4.यदि आप प्रत्येक पूर्णिमा हवन कर सकें तो बहुत ही शुभ है |इसके लिए यदि आपको कोई मन्त्र नहीं आता है तो सिर्फ इतनाकरें की किसी कंडे(गोहा)अथवा उपलेपर अग्नि प्रजव्लित कर ॐ के उच्चारणसे १०८ आहुति दें|यह आपकी धार्मिक भावना को जताता है|
5.महीने में दो बार किसी भी दिन उपले पर थोड़ी सी लोबान रख कर उसके धुएं को पूरे घर में घुमाएं|
6.यदि आप के पूजा काल में कोई मेहमान आता है तो यह बहुत शुभ है,इस समय उस मेहमान को जल पान अवश्य करवाएं| यदि संध्या काल की पूजा मेंकोई सुहागिन स्त्री आती है तो आपका बहुत ही सोभाग्यहै|आप यह समझें की आपकेघर माँ लक्ष्मी का परवेश हो चूका है| आपकी साधनाअर्थात पूजा काल में कोई बच्चा रोता है तो यह आपके लिए शुभ नही है|इसके लिए आप ज्ञानी व्यक्ति से संपर्क कर पतालगायेंकी क्या वजहहै|इसकासामान्यकारन यह होसकताहै कीआपकेघरमें कोई नकारात्मक शक्ति अवश्य है|
7.आपके निवासमें अग्नेकोण(पूर्व वहदक्षिण काहोना)मेंयदिगलतीसे कोईपानीकी वयवस्थाहोगयीहै तो यह वास्तु शास्त्र के अनुसार बहुत बड़ा दोष है|इसके लिए आप उस स्थान पर चोबीस घंटे एक लाल बल्ब जलता रहने दें|शाम
को उस स्थान पर एक दीपक अवश्य रखें|
8.घर में कभी नमक किसी खुले डीबे में न रखें| घर के जितने भी दरवाजे हों उनमें समय समय पर तेल अवश्य डालते रहना चाहिए|उनमें से किसी भी प्रकार कीआवाज़ नही आनी चाहिए| 9.कभी भी किसी को दान दें तो उसे घर की देहली में अन्दर न आने दें,दान घर की देहली के अन्दर से ही करें|
10.यदि नियमित रूप से घर की प्रथम रोटी गाय को तथा अंतिम रोटी कुते को दें तो आपके भाग्य के द्वार खोलने से कोई नही रोक सकता|
11.आप अपने निवास में कुछ कच्चा स्थान अवश्य रखें|यदि संभव हो तो यह घर के मध्य स्थान में रखें| यदि यहाँ तुलसी का पौधा लगा है तो फिर आपके कार्यों में कोई भी रूकावट नही आ सकती|
12.आपयदि अपनेव्यस्त जीवनमें गुरूवार को केलेके वृक्ष पर सदाजलअर्पित कर घी का दीपकतथाशनिवार को पीपल के वृक्ष में गुड,दूध मिर्षित जल वह सरसों के तेल का दीपक अर्पित करें तो कभी भी आर्थिक रूप से परेशान नही होंगे| आर्थिक सम्पनता के लिए आप नियम बना लें की नित्य ही किसी भी पीपल के दरखत में जल अवश्य दें|

No comments:

Post a Comment