Monday, May 2, 2011

धन के देवता कुबेर की कृपा से पाएं धन-वैभव की प्रसाद


हम सभी के लिए समय के साथ धन, पैसा, दौलत की आवश्यकता बढ़ती जा रही है। इसी वजह से सभी को धन की देवी महालक्ष्मी की कृपा चाहिए। साथ ही देवताओं के कोषाध्यक्ष कुबेर देव भी हमारी धन संबंधी परेशानियां दूर करते हैं। इनकी कृपा के लिए श्रीराम के परम भक्त पवनपुत्र श्री हनुमानजी का ध्यान सबसे अच्छा उपाय है।

हनुमानजी के भक्तों को श्रीराम सहित महालक्ष्मी और कुबेर देव की कृपा भी प्राप्त होती है। आज अधिकांश लोगों के साथ समय अभाव की समस्या बनी हुई है। बजरंगबली के ध्यान के लिए अलग से समय नहीं मिल पाता है तो हर रोज सुबह योग और ध्यान के साथ ही पवनपुत्र का स्मरण किया जा सकता है।

हनुमानजी के ध्यान के लिए किसी भी सुविधाजनक आसन में बैठ जाएं। अब प्राणायाम की क्रिया पूरक और रेचक प्रारंभ करें अर्थात् सांस लेने की सामान्य क्रिया करें। अब मन को एकाग्र करके हनुमान चालीसा का पाठ करें। यदि हनुमान चालीसा का पूर्ण पाठ नहीं कर पा रहे हों तो इन पंक्तियों का पाठ करें-

जम कुबेर दिगपाल जहां ते।

कवि कोबिद कहि सके कहां ते।।

इन पंक्तियों के निरंतर जप से हनुमानजी को प्रसन्न होंगे ही साथ ही यम, कुबेर आदि देवी-देवताओं की कृपा भी प्राप्त होगी।

No comments:

Post a Comment